(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

अंतरिक्ष स्पेस स्टेशन में मानव के रुकने की 20 साल कल पूरे हो जाएंगे अब तक19 देशों के अंतरिक्ष यात्रियों को मिला है मौका

Spread the love

अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र आईएसएस

Advertisement
गत दो दशकों से पृथ्वी की कक्षा में चक्कर लगा रहा है आज यानी सोमवार को इसमें मनुष्यों की ठहरने के 20 साल पूरे होंगे इस केंद्र की जब स्थापना हुई

यह भी पढ़ें:

और पहली बार अंतरिक्ष यात्री इसमें रहने गए तब वहां तंग  नमी युक्त तीन छोटे कमरे थे गत 20 वर्षों में आईएसएस ने कई बदलाव की अब तक यह टावर सा लगने लगा जटिल बन गया है 3 शौचालय 6 सोने के कमरे और 12 कमरे अलग से अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र में अब तक 19 देशों के अंतरिक्ष यात्रियों को रहने का मौका मिल चुका है इसमें मरम्मत कार्य की खातिर कई बार जाने वाले अंतरिक्ष यात्री और अपने खर्च पर पहुंचने वाले पर्यटक शामिल भी हैं

international space station

आईएसएस पर सबसे पहले पहुंचने वालों में  अमेरिका के बिल  शेफर्ड   और रूस के सर्जेई क्रिकलेव  व यूरिजेको  थे उन्होंने कजाखस्तान  से 31 अक्टूबर 2000 को यात्रा शुरू की थी और 2 दिन बाद यानी 2 नवंबर 2000 को अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र का दरवाजा खोल दिया था बिल  शेफर्ड  और सर्जेई क्रिकलेव एवं यूरी गिड़जीको  आई एस एस के रूप में विज्ञान के नए युग की शुरुआत कर दी एकजुटता प्रकट करने के लिए एक-दूसरे का हाथ थामे हुए हैं।

यह भी पढ़ें:

कुंभलगढ़ का किला मेवाड़ राजाओं की ऐतिहासिक रचनाओं में से एक है

शेफर्ड अमेरिकी नौसेना के सील कमांडो थे जिन्होंने स्टेशन कमांडर की भूमिका निभाई तीनों शुरुआती अंतरिक्ष यात्री ने अपना अधिकतर समय आज के मुकाबले कहीं कठिन परिस्थितियों में उपकरणों को ठीक करने में और उन्हें लगाने में खर्च कर दिया है दोस्तों यह बहुत दिन बहादुर और बहुत इंटेलिजेंट हैं जो कि स्पेस में मेंटेनेंस का वर्क भी करते हैं।

Blank Form

Spread the love

3 thoughts on “अंतरिक्ष स्पेस स्टेशन में मानव के रुकने की 20 साल कल पूरे हो जाएंगे अब तक19 देशों के अंतरिक्ष यात्रियों को मिला है मौका

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *