Advertisement

गुरुजी ने शादी करवाई अपने शिष्य के साथ अपनी ही लड़की की,Guruji got married to his own girl with his disciple,

Spread the love


पहले जमाने में ऐसा हुआ करता था कि जंगलों में लोग रहा करते थे और एक गुरु जी भी थे जो जंगल में रहते थे पहले स्कूल कॉलेज नहीं हुआ करते थे शिष्य गुरुकुल में पढ़ा करते थे गुरुकुल में बहुत दूर-दूर से  शिक्षा ग्रहण करने के लिए आते थे गुरु जी की पत्नी का देहांत हो गया था गुरुजी की एक लड़की थी। गुरु जी की लड़की जवान हो गई थी शादी करने लायक हो गई थी तो उन्होंने एक प्रण किया कि मैं अपनी लड़की की  शादी में किसी पैसे वाले से नहीं करूंगा। बल्कि किसी बुद्धिमान के साथ करूंगा।

Advertisement

इसे भी पढ़ें:-

 

धन वाले से नहीं करूंगा केवल बुद्धिमान हो उसी से शादी करवा दूंगा तो उन्होंने एक विचार सोचा और अपने शिष्यों को इकट्ठा किया उन्होंने सोचा कि मैं इनमें से ही कोई ना कोई बुद्धिमान होगा उसे चुन लेता हूं चुनने  के बाद में मैं उनमें से एक को अपनी बेटी के लिए चुनुँगा  और वह जो सबसे बुद्धिमान होगा तो गुरु जी ने सभी शिष्यों से कहा कि आप लोग चोरी कीजिएगा किसी न किसी रूप में किसी के यहां करिएगा लेकिन कोई  आपको ना देख पाए।

सभी शिष्यों ने अपने अपने ढंग से चोरियां करना शुरू कर दिए लोगों के घर से सामान बाहर के सामान को ढूंढना शुरू कर दिए उसके बाद एक शिष्य ने बाहर जाकर सोचने लगा कि मैं कैसे करूं कि मुझे कोई देख ना पाए लेकिन गुरु जी उस बच्चे को देख रहे थे तो अपने दिमाग में अपने माइंड में क्या सोच रहा है और यह चोरी क्यों नहीं कर रहा है लेकिन उस बच्चे ने सोचा कि यदि मैं चोरी करता हूं तो कोई नहीं देखता लेकिन मेरी अपनी अंतरात्मा तो खुद देख रही है मैं अगर चोरी करता हूं तो मैं गुरुजी से क्या जवाब दूंगा कि मेरी अंतरात्मा तो देख रही है फिर गुरुजी ने जाकर पूछा कि बेटा यहां क्यों खड़े हो जा करके अपना काम करो लड़के ने कहा नहीं मैं ऐसा नहीं कर सकता क्योंकि कोई भी चोरी करता है तो उसकी अंतरात्मा देखती रहती है इसलिए मैं नहीं कर सकता।

इसे भी पढ़ें:-

इसी प्रकार गुरु जी ने सबसे बुद्धिमान व्यक्ति सबसे बुद्धिमान शिष्य को चुन लिया और अपनी बेटी का विवाह उसी  शिष्य के साथ कर देते  है और खुशी-खुशी उसकी बेटी उसके घर विदा हो जाती है और गुरु जी अकेले आश्रम में बच्चों को शिक्षा देते हैं और शिक्षा में लीन हो जाते हैं दोस्तों इस कहानी से यही सीख  मिलती  है कि हमारी अंतरात्मा सब कुछ देखती है। अपनी अंतरात्मा पर अपने आप पर विश्वास करना चाहिए विश्वास करना ही हमारा कर्तव्य होता है अगर विश्वास नहीं करते हैं तो हमारी जिंदगी एक मोड़ से भटक जाती है।

इसे भी पढ़ें:-

हमें इस कहानी का सुझाव कमेंट के माध्यम से जरूर दें


Spread the love
Advertisement
RAM VILAS: रामविलास जी का मानना है कि तकनीक डरने की नहीं सीखने की चीज है। इसके बारे में आप जितना जानेंगे उतनी ललक बढ़ेगी। इसी ललक और सीखने की चाह ने इन्हें तकनीकी जगत से जुड़ने के लिए प्रेरित किया। रामविलास ने अपने करियर की शुरुआत 2018 यूट्यूब से की थी और वर्ष 2020 में ये Website Blogs से जुड़े। इन्हें न सिर्फ टेक न्यूज की अच्छी समझ है बल्कि टिप्स एंड ट्रिक्स और रिव्यू में भी अच्छी जानकारी भी है। अब रामविलास vzonealert.in के साथ जुड़े हैं यहां भी कुछ नया करने की सोच के साथ काम कर रहे हैं। (CEO, CO-FOUNDER)
Advertisement